चिया बीज क्या है इनमे कौन – कौन से न्यूट्रिशन पाया जाता है ?|chia seeds in hindi

चिया बीज क्या है  |chia seeds in hindi

 यह एक प्रकार का बीज है !  यह काला ,सफेद, भूरा  रंग में पाया जाता है  इनका आकार काफी छोटा होता है जिनके फूल  सफेद और बैंगनी रंग के होते हैं  जिनका अपना कुछ खास स्वाद नहीं होता है लेकिन इनके गुण इतने है की लोग सुपर फ़ूड के आहार के  श्रेणी में रखा गया है ! बॉडी डिटॉक्स करने का सबसे आसान तरीका जिसमे आप शरीर को नई ऊर्जा प्रदान कर सकते है , लोग का मानना है प्राचीन काल  में भी इसका उपयोग स्वास्थ्य लाभ के लिए करते थे ! कुछ समय से लोगो ने चिया बीज को ज्यादा सर्च और  इनके फायदे के बारे में जानना चाहते है  चिया बीज मुख्यतः मेक्सिको में पाया जाता है अब यह  यह भारत में भी खेती संभव  हो गई है !

चिया बीज लोकप्रिय क्यों है  

वैज्ञानिक रूप से साल्विया हर्पेनिका के रूप में जाना जाता है यह आकार में छोटा  है किन्तु  चिया अपने गुण की वजह से इसे स्ट्रेंथ कहते है ! यह स्वास्थ्य के लिए कई लाभ रखता है और विभिन्न रोगों के लिए एक सुरक्षा कवच के रूप में कार्य करता है !

रिसर्च के मुताबिक इनमे निम्न लिखित न्यूट्रिशन पाया जाता है !

  • प्रोटीन 
  • कैल्शियम  
  • फाइबर 
  • फैट 
  • मैगनीज   
  • मैग्नीशियम 
  • फास्फोरस
  • विटामिन बी 
  • पोटेशियम 

हमारे शरीर के  कोशिकाओं को बढ़ने और खुद को ढालने के लिए न्यूट्रिशन की आवश्यकता होती है  मानव शरीर के स्वास्थ्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह ऊतकों और कोशिकाओं के मूल घटकों में से एक है अंग, और शरीर के विभिन्न कार्यों जैसे हार्मोन और एंजाइमों को नियंत्रित करता है ! अधिक प्रोटीन को ग्लूकोज जैसे शरीर के ऊर्जा स्रोतों में परिवर्तित किया जाता है !

जो लोग शाकाहारी है उनकी लिए काफी अच्छा फ़ूड है ! यह अन्य फ़ूड में भी पाया जाता है  जैसे – मांस, मछली, मुर्गी पालन, अंडे, फलियां, और डेयरी उत्पाद  !  

चिया सीड के क्या फायदे हैं? और हमारे शरीर में इनका क्या योगदान रहेगा है ?

सभी न्यूट्रिशन जो चिया बीज में पाया जाता हमारे शरीर के लिए बहुत ही फायदे मंद है !आइये हम इनमे न्यूट्रिशनके बारे में विस्तार से जानेगे!

कैसे वजन घटाने के लिए चिया के बीज का उपयोग करने के?

1.चिया बीज में प्रोटीन मात्रा  4 gm RDI 

पुरुष और महिला  के लिए  क्रमशः 55 ग्राम और 45 ग्राम प्रोटीन रोज़ खाना चाहिए. प्रोटीन की कमी के चलते त्वचा फटी-फटी-सी हो सकती है , प्रोटीन को शरीर के निर्माण का महत्वपूर्ण आधार माना जाता है  मानव शरीर के लिए प्रोटीन निम्न कार्यों के लिए उत्तरदायी होता है !

  • पूरे शरीर में अणुओं का परिवहन और भण्डारण , जैसे – हीमोग्लोबिन और मायोग्लोबिन
  • एंजाइम एमाइलेज  और हार्मोन इंसुलिन के रूप में महत्वपूर्ण कार्यों को करना
  • कोशिकाओं की मरम्मत करने तथा नवीन कोशिकाओं के निर्माण कार्य में मदद करना
  • एंटीबॉडी के रूप में शरीर की वायरस और बैक्टीरिया संक्रमण से रक्षा करना
  • बच्चों, किशोरों और गर्भवती महिलाओं में उचित रूप से वृद्धि और विकास को बढ़ावा देना
  • शरीर में प्रत्येक कोशिका के कामकाज के लिए प्रोटीन की आवश्यकता होती है

2.चिया बीज में कैल्शियम  की मात्रा 18% RDI 

कैल्शियम हमारी बॉडी के लिए बहुत जरूरी मिनरल में से एक है। ये हर उम्र के इंसान के लिए, फिर चाहे वह बच्चा हो, बूढ़ा या फिर जवान सब के लिए जरूरी है ! खासतौर पर महिलाओं के लिए तो कैल्शियम बहुत जरूरी है क्‍योंकि महिलाओं में कैल्शियम की सबसे अधिक कमी होती है! हमारे शरीर का 99 प्रतिशत कैल्शियम हड्डियों में स्टोर रहता है और उसी से आवश्यकतानुसार खून में घुलकर पहुंचता रहता है!  महिलाओं की बॉडी में पीरियड्स, डिलीवरी के समय और ब्रेस्‍टफीडिंग के बाद कैल्शियम कम होने लगता है! जो इस कमी को पूरा कर सकता है !

“कई लोगो को के मन में दुविधा रहता हे की दूध पीना चाहिए की नहीं लेकिन यह चिया बीज आपके लिए  एक अच्छा कैल्शियम का  मात्रा प्रदान कर सकता है ” !

इसे भी पढ़े 

मॉडर्न लाइफस्टाइल के चलते हमारी खाने-पीने की आदत काफी बदल गई है ! हम पौष्टिक चीजें खाने की बजाय टेस्‍ट को अधिक प्राथमिकता देने लगे हैं, जैसे- जंक फूड्स, तली भुनी चीजें, कोल्ड ड्रिंक्स, चॉकलेट, चिप्‍स, आइस्क्रीम आदि ! और खानपान में गडबडी के चलते बॉडी में कैल्शियम की कमी एक आम समस्या हो गई है, जिसका इतनी जल्‍दी तो पता नहीं चलता लेकिन भविष्‍य में यह आपकी हेल्‍थ को बुरी तरह से प्रभावित कर सकता है ! बॉडी के हेल्‍दी और और बैलेंस ग्रोथ के लिए हर उम्र में कैल्शियम की आवश्यकता होती है। बढते बच्चों की बॉडी, दांतों के आकार और हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए भी कैल्शियम जरूरी है। आइए जानें हमारी बॉडी के लिए कैल्शियम क्‍यों जरूरी हैं!

चिया बीज  हड्डियों का विकास – कैल्शियम ऑस्टियोपोरोसिस को रोकने में हेल्‍प करता है। मजबूत हड्डियों के विकास के लिए विशेष रूप से बच्चों और युवा वयस्कों के लिए कैल्शियम सबसे महत्वपूर्ण पोषक तत्व है!  कैल्शियम अवशोषण और हड्डियों का विकास 20 साल की उम्र तक अपने चरम पर होता है, और उसके बाद धीरे-धीरे घटता है। कैल्शियम और विटामिन डी की पर्याप्त मात्रा बढ़ते बच्चों और युवा वयस्कों में बोन मास में वृद्धि करने में हेल्‍प मिलती है !

3.चिया बीज में  फाइबर मात्रा  11 gm

कैसे वजन घटाने के लिए चिया के बीज का उपयोग करने के?

चिया बीज में फाइबर की मात्रा 11 gm रहती है जो  खाने को पचने में सहायता करता है, कब्ज़ से पीड़ित है और पेट साफ करता है! शरीर के अंदर दूषित पदार्थो को भोजन से दूर करता है ! कोलेस्ट्रॉल को कम करता है और दिल की बीमारी के खतरे से राहत है! रक्त में शुगर की मात्रा को नियंत्रित करता है ! यह पाचन क्रिया को बढ़ाता है और शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी विकसित करता है !

4.चिया बीज में  फैट  मात्रा  9 gm

  कई लोग शुरू करते हैं लेकिन हर किसी को सफलता नहीं मिल पाती ! सफल वही होते हैं जो अपने गोल को हासिल करने के लिए पूरी मेहनत से जुटे रहते हैं ! हम क्यों न आगे बढ़े और हमारे शरीर को फिट रखे !चिया के बीजों में अधिक मात्रा में ओमेगा 3 फैटी एसिड और डाइटरी फाइबर पाए जाते हैं ! इनमें मौजूद ओमेगा 3 फैटी एसिड हार्ट से जुडी बीमारियों को ठीक करने में लाभकारी होता है!

वेट लॉस करने की बात हो या मसल्स गेन (Weight loss or muscle gain) करना हो, हर किसी को अपनी डाइट का ख्याल रखना होता है ! किसी भी फिटनेस जर्नी में 60-70 प्रतिशत योगदान डाइट का ही होता है ! चिया बीज का सेवन के साथ – साथ आप अच्छे  हेल्दी और बैलेंस डाइट (Best diet) के साथ अच्छा वर्कआउट रूटीन (Workout routine) भी होना चाहिए, जो मसल्स बिल्ट करने और फैट लॉस करने में मदद करता है!

दोनों ही कंडीशन में फाइबर का सेवन करना जरूरी होता है। क्योंकि फाइबर डाइट लेने से शरीर की न्यूट्रिशन अब्जॉर्ब करने की क्षमता (Ability to absorb nutrition) बढ़ जाती है और आपको अच्छे रिजल्ट मिलते हैं!

5.चिया बीज में  मैंगनीज की  मात्रा  30 % RDI 

मैंगनीज एक खनिज है जो हमारे शरीर में थोड़ी मात्रा में मौजूद रहता है!वैज्ञानिक अध्ययन के अनुसार, बुजुर्ग ब्यक्ति के लिए  2.3 मिलीग्राम मैंगनीज की जरूरत प्रतिदिन होती है जबकि महिलाओं को 1.8 मिलीग्रामकी मात्रा जरूर मिलनी चाहिए।

चिया बीज में भी मैंगनीज पाया जाता है  इसके अलावा कुछ खाद्य पदार्थ जैसे मूंगफली, साबुत अनाज, बीज,फलियां और हरी सब्जियां में अच्छी मात्रा में मेंगनीज पाया जाता है! बहुत से ऐसे लोग भी होते है जिनके शरीर में मैंगनीज की कमी होती है यदि शरीर में मैंगनीज की कमी होने लगती है, तो अनेक तरह की बीमारियां अपने चपेट में लेने लगती है !

इसे भी पढ़े 

मैंगनीज क्या काम करता हैं ? 

  • हड्डियों की मजबूती बनाने में मदद करता है।
  • हमारे शरीर में मैंगनीज बहुत से महत्वपूर्ण कार्य करने में मदद करता है। चलिए आगे बताते हैं।
  • मैंगनीज शरीर में एंटीऑक्सीडेंट के रूप में काम करता है।
  • शरीर पाचन क्रिया को बेहतर बनाने में मैंगनीज सहायक होता है।
  • सेक्स हार्मोन के उत्पादन में मैंगनीज कार्य करता है।
  • शरीर की इम्युनिटी सिस्टम को बढ़ाने में मैंगनीज फायदेमंद होता है।
  • मैंगनीज मस्तिष्क के विकास में मदद करता है।
  • शरीर में वसा और प्रोटीन के चयापचय में मैंगनीज मदद करता है।
  • शुगर के चयापचय करने में मैंगनीज कार्य करता है।
  • हड्डियों या दांतों में मजबूती हो,
  • या ब्‍लड सेल्‍स का निर्माण,

पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम का सेवन कार्डियोवैस्कुलर बीमारियों और हाई ब्‍लडप्रेशर के जोखिम को कम कर सकता है। दिल और ब्‍लड वेसल्‍स हमारे नर्वस सिस्‍टम से जुड़े हुए हैं। कैल्शियम की कमी से दिल की समस्याएं और हाई ब्‍लड प्रेशर हो सकता है।

6.चिया बीज में मैग्नीशियम की  मात्रा 30 % RDI

मैग्नीशियम शरीर के लिए जरुरी प्रमुख पांच तत्वों में से एक है ! शरीर को ठीक ढंग से अपना काम करने के लिए मैग्नीशियम की पर्याप्त मात्रा होना बहुत जरुरी है ! बहुत कम ही लोग शरीर के लिए जरुरी इस रासायनिक तत्व के बारे में जानते हैं! आमतौर पर लोगों को यह पता ही नहीं कि हमारे शरीर में मैग्नीशियम का क्या रोल है, या  मैग्नीशियम के स्रोत क्या है? और किन खाद्य पदार्थों के सेवन से मैग्नीशियम की कमी दूर की जा सकती है। इस लेख में हम आपको मैग्नीशियम के स्रोत और खुराक की मात्रा के बारे में विस्तार से बता रहे हैं !

अगर हम चिया बीज  में मैग्नीशियम के फायदों की बात करें तो यह शरीर और मस्तिष्क के बीच संदेशों के आवागमन में अहम भूमिका निभाती है! शरीर में मैग्नीशियम की पर्याप्त मात्रा होने से दिमाग की कार्यक्षमता बढ़ती है जिससे याददाश्त तेज एवं मजबूत होती है !

मैग्नीशियम के कारण दिल की धड़कन भी नियंत्रित रहती है। इन सबके अलावा यह हड्डियों के निर्माण में भी मदद करती है और उन्हें मजबूत बनाये रखती है। दुनिया के कई हिस्सों में अभी इस बारे में शोध चल रहे हैं कि उच्च रक्तचाप, दिल की बीमारियाँ और डायबिटीज जैसे गंभीर रोगों के इलाज और रोकथाम में मैग्नीशियम की क्या भूमिका है।  

शरीर में मैग्नीशियम की कमी होने पर शुरु में आपको कई संकेत मिल सकते हैं जैसे कि उल्टी या मिचली महसूस होना, थकान, कमजोरी और भूख ना लगना इत्यादि। लेकिन जब मैग्नीशियम की बहुत अधिक कमी हो जाती है तो दौरे पड़ना, सुन्न होना, मांसपेशियों में सिकुड़न और दर्द, दिल की धड़कन अनियमित होने जैसे कई गंभीर समस्याएं हो सकती हैं। इसलिए अपने आहार में मैग्नीशियम से भरपूर चीजों को शामिल करें।

 शरीर को स्वस्थ तरीके से काम करने के लिए मैग्नीशियम का होना बहुत जरुरी है। जबकि मैग्नीशियम की अधिक मात्रा आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकती है!  इसलिए आपको उचित मात्रा में ही इसका सेवन करना चाहिए! 

7.चिया बीज में  फास्फोरस की मात्रा  27 % RDI 

फास्फोरस एक प्रकार का खनिज (mineral) है,  व्यक्ति में उसके शरीर के वजन के एक प्रतिशत के बराबर फास्फोरस स्वतः ही निर्मित होता है ! यह पोषक तत्व सेहत और स्वास्थ्य के नजरिए से काफी अहम माना गया है ! वजह यह है कि यह पोषक तत्व शरीर में वसा और कार्बोहाइड्रेट के इस्तेमाल को नियंत्रित करने, शरीर के विकास के लिए प्रोटीन निर्माण करने और कोशिकाओं और ऊतकों को स्वस्थ रखने में अहम भूमिका निभाता है!

जानकारों की मानें, तो चिया बीज में  RDI 27 % फास्फोरस की मात्रा होती है जो मानव शरीर को फास्फोरस की कमी को पूरा कर सकती है   मुख्य रूप से हड्डी, दांत, डीएनए (डीऑक्सीराइबोन्यूक्लिक एसिड) और आरएनए (राइबोन्यूक्लिक एसिड) में उपस्थित रहता है। वहीं, यह भी बताया जाता है कि मानव शरीर में मौजूद फास्फोरस की कुल मात्रा का करीब 85 प्रतिशत दांत और हड्डियों में पाया जाता है। वहीं, शरीर में उपस्थित फास्फोरस की कुल मात्रा का 15 प्रतिशत भाग खून और कोमल ऊतकों में मौजूद रहता है !

फास्फोरस के फायदे 

वैसे तो इस बात से सभी अच्छी तरह वाकिफ होंगे कि हड्डियों और दांतों को मजबूती प्रदान करने के मामले में कैल्शियम एक अहम पोषक तत्व माना जाता है। मगर, कैल्शियम के साथ ही हड्डी और दांतों के निर्माण में और उन्हें मजबूत बनाए रखने में फास्फोरस भी अहम भूमिका निभाता है ! शोध में यह भी माना गया है कि शरीर में मौजूद फास्फोरस का करीब 85 प्रतिशत भाग हड्डी और दांतों में ही पाया जाता है (3)।

 दरअसल, इसकी कमी ही नहीं बल्कि इसकी जरूरत से अधिक मात्रा हड्डियों और दांतों का दर्द व कमजोरी की वजह भी बन सकती है (4)।

  • किडनी की कार्यक्षमता को सुधारे
  •  मांसपेशियों को संकुचित रखता है
  •  दिल की धड़कन को नियंत्रित रखता है
  • दिमाग के लिए उपयोगी
  • पाचन के लिए उपयोगी
  • कमजोरी को दूर करने में सहायक

8.चिया बीज में   विटामिन ,पोटेशियम  मात्रा

लोगों को विटामिन बी 12 की कमी होना आम बात है, लेकिन ज्यादातर लोगों की जानकारी नहीं होती है। वयस्कों में अधिकांथ: इसकी कमी पाई जाती है ! गर्भावस्था, स्तनपान कराने वाली महिलाओं को भी विटामिन बी 12 की कमी हो सकती है।

क्या आपको पता है कि विटामिन बी 12 की कमी से क्या होता है? किस आयु वर्ग के लोगों को इसकी कमी होने की सबसे अधिक संभावना रहती है? अगर किसी व्यक्ति को विटामिन बी 12 की कमी हो गई तो कौन-सी बीमारी हो सकती है? आपके लिए यह जानकारी बहुत ही महत्वपूर्ण है क्योंकि जब भी ये लक्षण आपको दिखाई देते हैं तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क किया जा सकता है !

आइए इसके बारे में जानते हैं !

  • आँखों की रोशनी में कमी
  • थकान और भागों में कमजोरी
  • शारीरिक कमजोरी और थकान, विटामिन बी 12 की कमी के संकेत हैं।
  • भूख की कमी और कब्ज

 पोटेशियम  
 
शरीर में पोटेशियम की कमी को दूर करते हैं चिया बीज  में पोटेशियम काफी अच्छी मात्रा में होता है  वैसे तो पालक पोटेशियम के एक बेहतरीन स्रोत है !

यह शरीर में पाया जाने वाला तीसरा सबसे प्रचुर खनिज है!  यह न केवल शरीर में इलेक्टोलाइट संतुलन को बनाए रखता है, बल्कि हृदय, रीढ़, मस्तिष्क और मांसपेशियों के यूमेन के सही तरीके से कामकाज के लिए भी बेहद आवश्यक है। अगर रक्त में पोटेशियम की कमी हो जाती है तो इससे सिरदर्द, दिल की धड़कन व अन्य कई तरह की परेशानियां खड़ी हो जाती है ! ऐसे में इन परेशानियों से बचने का एकमात्र तरीका है कि भोजन में पोटेशियम भरपूर खाद्य पदार्थों को शामिल किया जाए !

चिया बीज  पोटेशियम का एक अच्छा स्रोत है और केवल इसके माध्यम से ही पोटेशियम की दैनिक आवश्यकता की पूर्ति की जा सकती है ! 

चिया बीज का सेवन करने का तरीका 

इसे सूखा नहीं खाना चाहिए ये पानी का सोख लेता है ! चिया बीज का अपना कोई स्वाद नहीं होता है इसलिए हमेसा किसी की साथ ले सकते है जो लोग शाकाहारी है उनके लिए यह बेस्ट सुपर फ़ूड है “!

पानी के साथ 

चिया बीज को दो चम्मच ले इसे एक गिलास पानी में भिगो दे ,जब  चिया बीज फूल   जाये तब  इसका सेवन करें ! चिया बीज को सूखा ना खाये 

दूध के साथ 

दो चम्मच चिया बीज को को दूध में मिलाकर  रखे जब तक चिया बीज फूल न जाये फिर इसका सेवन करें !

नास्ते के रूप में 

चिया बीज को  उपमा ,दलिया या फोहा में दो -दो चम्मच मिलाकर सेवन करें इसे  हमेसा भिगा कर ही सेवन करें !

चिया बीज का परहेज इन समस्या पर सकते है 

एलर्जी 

  यदि आप अधिक मात्रा में चिया बीज का सेवन करते हैं तो आपको कुछ परेशानी हो सकती है जैसे – वजह से सांस लेने में कठिनाई, दस्त, उल्टी, सूजन या खुजली की समस्या हो सकती है !

पाचन की समस्या 

चिया बीज में  अधिक मात्रा में फाइबर पाया जाता है,  इस तरह आपके पेट में किसी तरह की समस्या पैदा कर सकती है ! आपको पाचन या भूख न लगना इस तरह से आपको कुछ परेशानी हो सकती है !

गर्भावस्था में  न ले 

अगर आप गर्भावस्था में हैं तो आप इसका सेवन बिल्कुल ना करें ! इसके सेवन से आपको कुछ बुरे परिणाम भी भुगतने पड़ सकते हैं !

इस प्रकार चिया बीज का सेवन अपने डॉ से सलाह से करें तो आपके लिए ज्यादा फादेमंद होगा अगर आपका कोई इलाज या दवा का सेवन कर रहे है तो डॉ के देख -रेख में चिया बीज का इस्तमाल करें ! 

इसे भी पढ़े

Social Share

Leave a Comment